Relations( रिश्ते ) । Hindi poetry । kavita

Relations( रिश्ते ) । Hindi poetry । kavita —

हमारे जीवन में रिश्तो(Relations)का बहुत मूल्य होता है, पर मुझे ऐसा लगता है की उन हजारो रिश्तो का बोझ ढो कर भी कोई फायदा नहीं जो केवल दिखावे से परिपूर्ण हो ।

वास्तविक रिश्ते(Relations) वही होते है , जो आपकी मुश्किलों में भी आपके साथ खड़े रहे , न की उस वक्त मुँह मोड़ ले ।

इसीलिये  जनाब  मै  मात्र इतना ही  कहूंगी की आप रिश्ते(Relations) मात्र उतने ही बनाये जो आप आजीवन निभा सके , बाकि की बातें मै मेरी इस छोटी सी कविता के माध्यम से कहना चाहूँगी ।

आप रिश्ते वही बनाये , जो सदा निभा सके ..

Hindi poem on relations

जो आकांक्षाओ से परे , है भावनाओ से बंधे

न जताने की जरुरत , न दिखावो पे टिके

आप रिश्ते वही बनाये , जो सदा निभा सके 

 

हो मन से आसक्त , और रूह से रुंधे

धुंध रात में , जो जुगनू बन संग चल पड़े

आप रिश्ते वही बनाये , जो सदा निभा सके 

 

वो प्रबल ,निश्चल पूर्ण हृदय से जुड़े

हर कष्ट में जो शिला बन हो साथ खड़े

आप रिश्ते वही बनाये , जो सदा निभा सके 

 

जीवन के काले अभ्र पर , टिमटिमाते तारो से

बन मुख की मुस्कान , चमकते आँखों में

आप रिश्ते वही बनाये , जो सदा निभा सके 

 

निस्वार्थ-नि:शब्द , यकीन की शाख पर खड़े

ये होते है अनमोल , बेहद बेजोड़ अनूठे बड़े

आप रिश्ते वही बनाये , जो सदा निभा सके 

 

न हो अहम, हर भूल पर जो झुक सके

मेरे दुःख जो उसकी आँखों से भी रिस सके 

आप रिश्ते वही बनाये , जो सदा निभा सके ….

 

 

Motivational Hindi Poem । यूँ मुश्किलों से तू न डर

खुशियाँ निकली महंगी बड़ी। Hindi poetry। Happiness

Best hindi fathers day poem(पिता को समर्पित एक कविता)

बचपन की यादें (poem on childhood memories)

बलात्कार ( कब तक जियेगी नारी इस भय के साये में )

बेटी बिना श्रृष्टि की तू कल्पना न कर(Save girl child)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

About the author

Deepmala Singh

View all posts

6 Comments

  • Very well said. Mala. Ap jo riste banaye wo nibh sake. Aj kal log riskto ka Koi mol hi nhi rha gya hai bs. Sift log aj kal Yek hi language samjte hai. Rupye ki khanak ki language bs. Jske baad kya. Kya apna kya paraya…mere kayal se sahi mayane me reste wo hote hai jo dil se dil tak jude Ho.. Bt reste wahi banaye jo nibh sake?☝???

  • Riste tabhi nibhaye ja sakte hain jab koi na koi kuch tyag karne ko tyar hota hai.
    Isiliye kabhi kabhi uper se ban k aaye riste tut jate hain aur kisi se prem mil jane se riste nibh jate hain.
    Bahut hi acche sabdon me peroy gyi aap ki kavita hai.

  • Rishte wahi banaye jinki Khushi aapke liye sab se important ho.
    You always write articles,that is related to real life truth and it teach some lessons.
    Keep writing ….I love it?

  • After reading these hearttouching lines on relations? I’ll only say I feel sooo proud on you n to being your sister ? ? miss you very much 🙁

    Keep writing your inner thoughts to inspire us
    🙂 I wish you a great success

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *